Aey Neher E Alqama Lyrics By Nadeem Sarwar

06/08/2022 1719

CHECK OUT The New Aey Neher E Alqama Lyrics(Urdu/Hindi) By Nadeem Sarwar 2022. The Latest Urdu Noha Aey Neher E Alqama Is Recited By Nadeem Sarwar And The Urdu/Hindi Lyrics Are Written By Hilal Naqvi.

 

Aey Neher E Alqama lyrics

Aey Neher E Alqama Song Details

Song: Aey Neher E Alqama
Singer: Nadeem Sarwar
Music: Nadeem Sarwar Ali Shanawar Ali Jee
Starring: Nadeem Sarwar
Label: Nadeem Sarwar
Rattings:

    Avg Rating 4.00 by 3 User(s)

Aey Neher E Alqama Lyrics 🕮

Aaj Bhi Is Bekasi Par Ro Rahi Hay Karbala
Alqama Bahati Rahi Aur Qafila Pyasa Raha
Aey Neher E Alqama
Pyasa Tha Tere Saamne Kunba Rasool Ka
Aey Neher E Alqama

Aey Neher E Alqama Tera Mehman Tha Hussain
Yoon Tere Paas Rah Ke Bhi Usko Mila Na Chain
Tujhse Hai Ye Gila Aey Neher E Alqama
Pyasa Tha Tere Saamne Kunba Rasool Ka
Aey Neher E Alqama

Khaimay Thy Ahale Bait Ke Kitane Tere Qareeb
Pyase Hi Tere Saamne Wo Mar Gaye Gareeb
Roti Thi Karbala Aey Neher E Alqama
Aaj Bhi Is Bekasi Par Ro Rahi Hai Karbala
Alqama Bahati Rahi Aur Qafila Pyasa Raha
Aey Neher E Alqama

Mashkeza Jiske Hath Main Tha Dosh Par Alam
Sahil Pe Tere Aae The Abbas Ke Qadam
Rutba Tujhe Mila Aey Neher E Alqama
Pyasa Tha Tere Saamne Kunba Rasool Ka
Aey Neher E Alqama

Sokhi Pari Thi Mashke Sakina Tarai Main
Do Boond Pani Kya Na Tha Sari Khudai Main
Haye Tone Ye Kya Kiya Aey Neher E Alqama
Aaj Bhi Is Bekasi Par Ro Rahi Hai Karbala
Alqama Bahati Rahi Aur Qafila Pyasa Raha
Aey Neher E Alqama

Ik Bekasi Si Ahale Haram Par Tamaam Thi
Kitni Udaas Sham E Gareebaan Ki Shaam Thi
Aey Wa Musebata Aey Neher E Alqama
Pyasa Tha Tere Saamne Kunba Rasool Ka
Aey Neher E Alqama

Noho Main Hain Jo Tazkira E Alqama Hilal
Charon Taraf Hai Aaj Bhi Ik Matam E Malal
Jaari Hai Ye Aza Aey Neher E Alqama
Aaj Bhi Is Bekasi Par Ro Rahi Hay Karbala
Alqama Bahati Rahi Aur Qafila Pyasa Raha

आज भी इस बेकासी पर रो रही है कर्बला
अलक़ामा बहाती रही और क़फ़िला प्यासा रहा
ऐ नेहर ए अलक़ामा
प्यासा था तेरे सामने कुनबा रसूल का
ऐ नेहर ए अलक़ामा

ऐ नेहर ए अलक़ामा तेरा महमान था हुसैन
यूं तेरे पास रह के भी उसे मिला ना चैन
तुझसे है ये गिला ऐ नेहर ए अलक़ामा
प्यासा था तेरे सामने कुनबा रसूल का
ऐ नेहर ए अलक़ामा

खैमाय तेरा अहले बैत के कितने तेरे क़रीब
प्यारे ही तेरे सामने वो मार गए गरीब
रोटी थी कर्बला ऐ नेहर ए अलक़ामा
आज भी इस बेकासी पर रो रही है कर्बला
अलक़ामा बहाती रही और क़फ़िला प्यासा रहा
ऐ नेहर ए अलक़ामा

मश्केज़ा जिस्के हाथ मैं था दोष पर आलम
साहिल पे तेरे आ द अब्बास के कदम
रुतबा तुझे मिला ऐ नेहर ए अलक़ामा
प्यासा था तेरे सामने कुनबा रसूल का
ऐ नेहर ए अलक़ामा

सोखी परी थी मशके सकीना तराई मैं
दो बूंद पानी क्या ना था साड़ी खुदाई मैं
हाय टोन ये क्या किया ऐ नेहर ए अलक़ामा
आज भी इस बेकासी पर रो रही है कर्बला
अलक़ामा बहाती रही और क़फ़िला प्यासा रहा
ऐ नेहर ए अलक़ामा

इक बेकासी सी अहले हराम पर तमम थी
कितनी उदासी शाम ए गरीबां की शाम थी
ऐ वा मुसेबता ऐ नेहर ए अलक़ामा
प्यासा था तेरे सामने कुनबा रसूल का
ऐ नेहर ए अलक़ामा

नोहो मैं हैं जो तज़किरा ए अलक़ामा हिलाली
चारो तारफ है आज भी इक मातम ए मलाल
जारी है ये आज़ ऐ नेहर ए अलक़ामा
आज भी इस बेकासी पर रो रही है कर्बला
अलक़ामा बहाती रही और क़फ़िला प्यासा रहा

Aey Neher E Alqama Video




Nadeem Sarwar Ali Shanawar Ali Jee

Latest Music Lyrics 2020