Fate Lyrics By Karma

25/07/2021 106

CHECK OUT The New Hindi Song Fate Lyrics By Karma 2021. The Latest Hindi Song FATE Music is Given By Karma and The Hindi/Roman Hindi Song Lyrics are also Written By Karma.

Fate lyrics

Fate Song Details

Song: Fate
Singer: Karma
Music: Karma
Label: Kalamkaar
Rattings:

Fate Lyrics 🕮

Ya
Dehradun Ka Mera Khon!
KARMA...!

Boly Naseeb Se Badi Ni Cheez
Par Ek Azeeb Sa Chadha Tha Shanuk Mujhy
Chadha Main Beat Pe Kara Defeat
Ab Bolty Goat Mujhy

Boly Naseeb Se Badi Ni Cheez
Par Ek Azeeb Sa Chadha Tha Shanuk Mujhy
Ab Jab Bhi Milty
Aankhon Mein Dikhta Khauf Mujhy

Dekho Naseeb Se Hum Kaisy Jeety
Kaisy Aaye Hum Yahan Pe
Bina Cheat Ke

Hum ko Taany Bhi Maary
Bola Gaany Bekaar Hain
Dekho Saary Ke Saary Niche Ghaseety

Per Month 3 Hazar Ki Job Se
Main Pahuncha 20 Hajaar Ki Job Pe
Ab Shauk Mery Dekh Ke
Kafi AatishKumar Bhi Chaunkty

Jo Shaikhi Baghaarty Bahut The
Ab Wo Bich Bazaar Mein Rokty
Saaly Azeeb Ganwar Se Log Hain
Hum Ab Bhi Sheesh Jhuka Ke Bolty

Show Pe Kuchh 30 Hazar Se Log Thy
Pehle Seedhy Saadhy Lagty
Ab 25 Ilaaky Khojty
Tabhi Hum Fees Badha Ke Bolty

Yeah!

Tujhy Bas Dikhta Hai Bag
Jo Pichy Tanga Meny Lakh Ka
Tujhy Pata Bhi Hai Saaly
Main ATM Ka Guard Tha

Aaj Bhi Main Guard Hon
Pariwaar Ka Aur Art Ka
Kalam Baisakhi Bany gi
Jab Hony Lagunga Main 60 Ka

Aaj Bhi Yaad Mujhy
Ki Main Kya Hu Aur Kya Tha
Aj Bhi Kabhi Kisi Ki Ni Chaat ta

Let’s Go!

Boly Naseeb Se Badi Ni Cheez
Par Ek Azeeb Sa Chadha Tha Shanuk Mujhy
Chadha Main Beat Pe Kara Defeat
Ab Bolty Goat Mujhy

Boly Naseeb Se Badi Ni Cheez
Par Ek Azeeb Sa Chadha Tha Shanuk Mujhy
Ab Jab Bhi Milty
Aankhon Mein Dikhta Khauf Mujhy

Fans Ka Pyaar Hi Bahut Hai
Uspy Sawar Hon Break Ni Mara
Stories Mein Khelty Laundy
Saamny Ek Ni Aara

Inke Gaany Ni Chalry
Jab Tak Kalesh Ni Aara
Itna Positive Ho Gaya
Game Mein Taste Ni Aara

Krma Pe Paisa Hi Bahut Hai
Karma To Waisy Hi Goat Hai
Hori Abhi Jai Kaisy Calm Rahu
Calm Rahunga To Seedhy Maut Hai

Kuch Bando Ki Niyat Mein Khot Hai
Kuchh Bandy Wasiyat Ki Chot Hain
Wo Bandy Hai Baap Ke Paisy Pe Chaudy
Hum Unky Baap We Taught Them

Mery Shehar Mein Tery Jaisey Bahut Hain
Tery Sheher Mein Jaisa Koi Nahi
Baksy Kamary Haq Se Khaary
Tery Sheher Mein Jab Aary
Jisko Apna Na Pata Ho Aisa Koi Nahi

Boly Naseeb Se Badi Ni Cheez
Par Ek Azeeb Sa Chadha Tha Shanuk Mujhy
Chadha Main Beat Pe Kara Defeat
Ab Bolty Goat Mujhy

Naseeb Se Badi Ni Cheez
Par Ek Azeeb Sa Chadha Tha Shanuk Mujhy
Ab Jab Bhi Milty
Aankhon Mein Dikhta Khauf Mujhy

Duniya Paisy Ke Pichy
Mery Pichy Paisa
Duniya Paisy Ke Pichy
Mery Pichy Paisa

Duniya Paisy Ke Pichy
Mery Piche Paisa
Duniya Paisy Ke Pichy
Mery Pichy Paisa

Deep Kalsi Ke Sangeet Pe..!

फिर
देहरादून का मेरा ख़ान!
कर्म...!

बॉली नसीब से बड़ी नी चीज़
पर एक अज़ीब सा चड्ढा था शनुक मुझे
चड्ढा मैं बीट पे कारा हार
अब बोल्टी बकरी मुझ्यो

बॉली नसीब से बड़ी नी चीज़
पर एक अज़ीब सा चड्ढा था शनुक मुझे
अब जब भी मिल्ति
आंखों में दिखता खौफ मुझे

देखो नसीब से हम कैसी जीत
कैसी आए हम यहां पे
बीना धोखा के

हम को तन्य भी मारी
बोला गनी बेकर है
देखो सारे के सारे आला घसीट्य

प्रति माह 3 हजार की नौकरी से
मैं पहला 20 हजार की नौकरी पे
अब शौक मेरी देख के
कफी आतिश कुमार भी चौंकटी

जो शेखी बघारती बहुत थे
अब वो बिच बाजार में रोक्टी
साल अज़ीब गणवर से लोग हैं
हम अब भी शीश झुक के बोल्त

दिखाएँ पे कुछ 30 हज़ार से लोग तेरा
पहले सीधी साध्य लग्य
अब 25 इलाकी खोज्त्यो
तबी हम फीस बढ़ा के बोल्त

हां!

तुझ बस दिखता है बाग
जो पिची तंगा मेनी लाख का
तुझे पता भी है साल्य
मुख्य एटीएम का गार्ड था

आज भी मैं गार्ड माननीय
परिवार का और कला का
कलाम बैसाखी बनी गी
जब हनी लगुंगा मैं 60 का

आज भी याद मुझे
की मैं क्या हूं और क्या था
आज भी कभी किसी की नी चाट ता

चलो चलते हैं!

बॉली नसीब से बड़ी नी चीज़
पर एक अज़ीब सा चड्ढा था शनुक मुझे
चड्ढा मैं बीट पे कारा हार
अब बोल्टी बकरी मुझ्यो

बॉली नसीब से बड़ी नी चीज़
पर एक अज़ीब सा चड्ढा था शनुक मुझे
अब जब भी मिल्ति
आंखों में दिखता खौफ मुझे

फैंस का प्यार ही बहुत है
उस्पी सावर माननीय ब्रेक नी मारा
कहानियां मैं खेल लॉन्डी
सामनी एक नी अर

इनके गनी नी चालरी
जब तक कलेश नी आरा
इतना पॉजिटिव हो गया
खेल में स्वाद नी आरा

करमा पे पैसा ही बहुत है
कर्मा तो वैसी ही बकरी है
होरी अभी जय कैसी शांत राहु
शांत राहुंगा तो सीधी मौत है

कुछ बंदो की नियत में खोट है
कुछ बंद वसीयत की चोट है
वो बंद है बाप के पैसे पे चौदय
हम उनके बाप हमने उन्हें पढ़ाया था

मेरी शहर में तेरी जैसी बहुत है
तेरी शहर में जैसा कोई नहीं
बक्सी कामरी हक से खारी
तेरी शहर में जब आर्य
जिसको अपना ना पता हो ऐसा कोई नहीं

बॉली नसीब से बड़ी नी चीज़
पर एक अज़ीब सा चड्ढा था शनुक मुझे
चड्ढा मैं बीट पे कारा हार
अब बोल्टी बकरी मुझ्यो

नसीब से बड़ी नी चीज
पर एक अज़ीब सा चड्ढा था शनुक मुझे
अब जब भी मिल्ति
आंखों में दिखता खौफ मुझे

दुनिया पैसे के पिच्यो
मेरी पिची पैसा
दुनिया पैसे के पिच्यो
मेरी पिची पैसा

दुनिया पैसे के पिच्यो
मेरी पिचे पैसा
दुनिया पैसे के पिच्यो
मेरी पिची पैसा

दीप कलसी के संगीत पे..!

Fate Video




Karma Kalamkaar

Latest Music Lyrics 2020