Milad un Nabi ka Jashn Naat Lyrics By Hafiz Ahmed Raza Qadri

02/10/2022 168

CHECK OUT The New Milad un Nabi ka Jashn Naat Lyrics(Urdu/Hindi) By Hafiz Ahmed Raza Qadri 2022. The Latest Urdu Naat Milad un Nabi ka Jashn Is Recited By Hafiz Ahmed Raza Qadri And The Urdu/Hindi Lyrics Are Written By Hafiz Ahmed Raza Qadri.

Milad un Nabi ka Jashn lyrics

Milad un Nabi ka Jashn Song Details

Song: Milad un Nabi ka Jashn
Singer: Hafiz Ahmed Raza Qadri
Starring: Hafiz Ahmed Raza Qadri
Label: Ahmed Raza Qadri
Rattings:

    Avg Rating 5.00 by 1 User(s)

Milad un Nabi ka Jashn Lyrics 🕮

Milad Un Nabi Ka Jashan Hai
Milad Un Nabi Ka Jashan Hai

Milad Un Nabi Ka Jashan Hai
Milad Un Nabi Ka Jashan Hai

Sary Nabiyon Mein Hai Jin Ki Shaan Juda
Un Py Bhejy Har Dum Durood O Salam Khuda
Sary Nabiyon Mein Hai Jin Ki Shaan Juda
Un Py Bhejy Har Dum Durood O Salam Khuda

Assalam O Alaika Ya Rasool Allah
Assalam O Alaika Ya Habibi Ya Nabi Allah
Assalam O Alaika Ya Rasool Allah
Assalam O Alaika Ya Habibi Ya Nabi Allah

Milad Un Nabi Ka Jashan Hai
Milad Un Nabi Ka Jashan Hai

Sarwar E Anbiya, Rahmat E Kibriya
Un Ki Khushboo Sy Mehkay Hain Dono Jahaan
Jo Hain Noor E Khuda, Khatim Ul Anbiya
Jin Ki Khatir Khuda Ny Bnaye Jahan
Chat Gai Jin Ki Aamad Sy Kaali Ghata

Milad Un Nabi Ka Jashan Hai
Milad Un Nabi Ka Jashan Hai

Muskurany Lagy Aaj Shams O Qamar
Noori Noori Fiza, Khil Uthy Bahr O Barr
Gosha E Amna Phir Munawar Hua
Charon Janib Zamany Mein Goonji Sada
Aaye Noor E Khuda, Aaye Khair Ul Waraa

Deewano Deewano Jhoomo Jhoomo
Deewano Deewano Jhoomo Jhoomo

Deewano Deewano Jhoomo Jhoomo
Deewano Deewano Jhoomo Jhoomo

Chand Sooraj Zameen Ko Sajaya Gaya
Jin Ki Khatir Zamana Banaya Gaya
Taj Mairaj Ka, Jin Ky Maathy Saja
Har Zubaan Ny Kaha Marhaba Marhaba
Tajdar E Haram, Shahkar E Khuda

Milad Un Nabi Ka Jashn Hai
Milad Un Nabi Ka Jashn Hai

Main Ghulam E Ghulaman E Khair Ul Bashar
Main Gadaa Wo Sakhi Woh Mery Chaara Gar
Aastan E Nabi Sy Mila, Jo Mila
Na Kisi Aur Darr Ka Sawali Hua
Jo Bhi Manga Nabi Ny Ata Kar Diya

Milaad Un Nabi Ka Jashan Hai
Milaad Un Nabi Ka Jashan Hai

Sohnrhy Nabi Aye
Mery Nabi Aye
Pyary Nabi Aaye

Sohnrhy Nabi Aye
Mery Nabi Aye
Pyary Nabi Aaye

Jo Dar E Mustafa Ka Gadaa Ho Gya
Martaby Mein Woh Sab Sy Juda Ho Gya
Koi Mansoor To Koi Bahlol Hai
Koi Khuwaja Koi Data Hajwair Hai
Koi Hasan To Koi Ahmad Raza

Milaad Un Nabi Ka Jashn Hai
Milaad Un Nabi Ka Jashan Hai

Jashn E Milad Dil Sy Manaty Raho
Ghar Mohallay Ko Bachon Sajatay Raho
Eid Hai Yeh Barhi Aur Har Eid Sy
Khoob Jazby Sy Kaatib Manayen Isy
Labb Py Naat E Nabi, Dil Mein Ishq E Shah


Milaad Un Nabi Ka Jashan Hai
Milaad Un Nabi Ka Jashn Hai
Milaad Un Nabi Ka Jashan Hai
Milaad Un Nabi Ka Jashn Hai

मिलाद उन नबी का जश्न है
मिलाद उन नबी का जश्न है

मिलाद उन नबी का जश्न है
मिलाद उन नबी का जश्न है

सारे नबियों में है जिन की शान जुदा
उन पाय भेजे हर दम दुरूद ओ सलाम खुदा
सारे नबियों में है जिन की शान जुदा
उन पाय भेजे हर दम दुरूद ओ सलाम खुदा

अस्सलाम ओ अलाइका या रसूल अल्लाह
असलम ओ अलाइका या हबीबी या नबी अल्लाह
अस्सलाम ओ अलाइका या रसूल अल्लाह
असलम ओ अलाइका या हबीबी या नबी अल्लाह

मिलाद उन नबी का जश्न है
मिलाद उन नबी का जश्न है

सरवर ई अंबिया, रहमत ए किब्रिया
उन की खुशबू सी महके हैं दोनो जहान
जो हैं नूर ए खुदा, खातिम उल अंबिया
जिन की खतीर खुदा ने बनाया जहां
चैट गई जिन की आमद स काली घाट

मिलाद उन नबी का जश्न है
मिलाद उन नबी का जश्न है

मुस्कान लगी आज शम्स ओ कमर
नूरी नूरी फ़िज़ा, खिल उठी बहार ओ बर्रो
गोशा ए आमना फिर मुनव्वर हुआ
चारो जनिब जमानी में गूंजी सदा
आए नूर ए खुदा, आए खैर उल वाराह

दीवानों दीवानों झूमो झूमो
दीवानों दीवानों झूमो झूमो

दीवानों दीवानों झूमो झूमो
दीवानों दीवानों झूमो झूमो

चांद सूरज ज़मीन को सजया गया
जिन की ख़तीर जमाना बनाया गया
ताज मैराज का, जिन की मैथी सजा
हर जुबान न्या कहा मरहबा मरहबा
ताजदार ए हराम, शाहकर ए खुदा

मिलाद उन नबी का जश्न है
मिलाद उन नबी का जश्न है

मैं गुलाम ए गुलामन ए खैर उल बशारी
मैं गदा वो सखी वो मेरी चारा गा
आस्तान ए नबी सी मिला, जो मिला
ना किसी और डर का सावली हुआ
जो भी मंगा नबी नया अता कर दिया

मिलाद उन नबी का जश्न है
मिलाद उन नबी का जश्न है

सोहनरी नबी ऐ
मेरी नबी ऐ
प्यारी नबी आई

सोहनरी नबी ऐ
मेरी नबी ऐ
प्यारी नबी आई

जो दार ए मुस्तफा का गदा हो गया
मार्तबी में वो सब सई जुडा हो गया
कोई मंसूर तो कोई बहलोल है
कोई खुवाजा कोई दाता हज्वेर है
कोई हसन To कोई अहमद रज़ा

मिलाद उन नबी का जश्न है
मिलाद उन नबी का जश्न है

जश्न ए मिलाद दिल सी मानती रहो
घर मोहल्ले को बचपन सजताय रहो
ईद है ये बरही और हर ईद स
ख़ूब जज़्बी सय कातिब मनायेन इस्यो
लब्ब पा नात ए नबी, दिल में इश्क ए शाह


मिलाद उन नबी का जश्न है
मिलाद उन नबी का जश्न है
मिलाद उन नबी का जश्न है
मिलाद उन नबी का जश्न है

Milad un Nabi ka Jashn Video




Hafiz Ahmed Raza Qadri

Latest Music Lyrics 2020