Sada Rahay Ga Hussain Hussain Lyrics By Farhan Ali Waris

31/07/2022 284

CHECK OUT The New Sada Rahay Ga Hussain Hussain Lyrics(Urdu/Hindi) By Farhan Ali Waris  2022. The Latest Urdu Noha Sada Rahay Ga Hussain Hussain Is Recited By Farhan Ali Waris And The Urdu/Hindi Lyrics Are Written By Mazhar Abidi.

Sada Rahay Ga Hussain Hussain lyrics

Sada Rahay Ga Hussain Hussain Song Details

Song: Sada Rahay Ga Hussain Hussain
Singer: Farhan Ali Waris
Music: Farhan Ali Waris Hasan Ayaz Jafri
Label: Farhan Ali Waris
Rattings:

    Avg Rating 4.67 by 3 User(s)

Sada Rahay Ga Hussain Hussain Lyrics 🕮

Fana Hojay Gi Duniya
Lakin Khuda Ka Hay Wada
Jab Tak Yeh Aza Rahay Gi
Zehra Ki Dua Rahay Gi

Na Tum Raho Gy Na Hum Rahenge
Sun Ly Ye Sara Zamana
Aza Rahay Gi Aza Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain
Hussain Hussain Mola Hussain Hussain

Zindabad Zindabad Shah Ki Aza Zindabad
Aza Rahay Gi Aza Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain

Shabbir Ka Ghum Rahay Ga Sada
Naslo Ko Wirse Main De Di Aza
Kal Hum Rahain Na Rahain Kia Pata
Zikre Aza, Aaho Buka
Ye Such Kar, Karna Sada
Na Tum Raho Gy Na Hum Rahenge
Sun Ly Ye Sara Zamana
Aza Rahay Gi Sada Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain
Hussain Hussain Mola Hussain Hussain

Hum Hain Dua E Syeda
Hum Hain Fida E Hussain
Zindabad Zindabad Shah Ki Aza Zindabad
Aza Rahay Gi Aza Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain
Hussain Hussain Mola Hussain Hussain

Niklay Gharo Sy Sabhi Noha Gar
Paidal Juloso Main Karne Safar
Na Fikre Mousam Na Dushman Ka Dar
Unche Alam, Barte Qadam
Roke Hame, Kis Main Hay Dum
Na Tum Raho Gy Na Hum Rahenge
Sun Ly Ye Sara Zamana
Aza Rahay Gi Aza Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain
Hussain Hussain Mola Hussain Hussain

Seenay Main Dil Dil Main Hay Dharkan
Dharkan Main Hussain
Aankho Main Ashko Ka Hay Sawan
Sawan Main Hussain
Maga Hai Allah Se Jewan
Jewan Main Hussain
Karbobala Hai Mera Maskan
Maskan Main Hussain

Tum Bhi Karo Hum Bhi Karain, Matam E Hussain
Tum Bhi Parho Hum Bhi Parhain, Majlis E Hussain
Tum Bhi Bano Hum Bi Banain, Zair E Hussain
Tum Bhi Chalo Hum Bhi Chalain, Maqtal E Hussain

Tum Bhi Uthao Alam, Hum Bhi Uthay Alam
Tum Bhi Barhao Qadam, Hum Bhi Barhay Qadam
Tum Bhi Ye Khao Qasam, Hum Bhi Ye Khain Qasam
Tum Bhi Manaogay Ghum, Hum Bhi Manaengay Ghum


Na Tum Raho Gy Na Hum Rahenge
Sun Le Ye Sara Zamana
Aza Rahay Gi Aza Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain
Hussain Hussain Mola Hussain Hussain

Rasm E Wafa Yun Nibhate Hain Hum
Bacho Ko Saqqa Banatay Hain Hum
Tehzeeb E Majlis Sikhate Hain Hum
Noha Parho, Matam Karo
Hum Ny Kia, Tum Bhi Karo
Na Tum Raho Gy Na Hum Rahenge
Sun Le Yeh Sara Zamana
Aza Rahay Gi Aza Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain
Hussain Hussain Mola Hussain Hussain

Zikr E Aza Ko Or Barhao
Naslo Ko Yun Parwan Charhao
Matmi Or Namazi Banao
Jo Kia Tumne Inhay Bhi Sikhao
Guzrain Jaha Se Juloos Aza Ke
Raho Main Unkay Sabeelain Lagao

Ye Hain Sabeelain Ye Pyaso Ka Matam
Raho Main Hai Ye Aseero Ka Matam
Yeh Khoon Ka Pursa Ye Zakhmo Ka Matam
Shulo Pe Abid Ke Chaalo Ka Matam
Zikr E Sakina Tamancho Ka Matam
Hota Rahega Shaheedo Ka Matam


Na Tum Raho Gy Na Hum Rahenge
Sun Le Ye Sara Zamana
Aza Rahay Gi Aza Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain

Har Saans Per Qarz Hai Shah Ka Ghum
Jitna Bhi Matam Karain Woh Hay Kam
Farsh E Aza Par Nikal Je Dum
Jitni Bachi, Hai Zindagi
Karte Rahain, Yeh Nokri
Na Tum Raho Gy Na Hum Rahenge
Sun Le Ye Sara Zamana
Aza Rahay Gi Aza Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain
Hussain Hussain Mola Hussain Hussain

Mout Ke Sailaab Main
Har Khushk O Tar Bah Jaye Ga
Haan Magar Naam E Hussain Ibn E Ali Rah Jaye Ga
Na Tum Raho Gy Na Hum Rahenge
Sun Ly Ye Sara Zamana
Aza Rahay Gi Aza Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain
Hussain Hussain Mola Hussain Hussain

Bibi Ki Mehnat Yeh Rang Laaye Hay
Matam Ka Har Koi Shaiday Hay
Aehl E Aza Ne Qasam Khai Hay
Yeh Dil Hai Kia, Yeh Jaan Hai Kia
Shabbir Par, Sub Kuch Fida
Na Tum Raho Gy Na Hum Rahenge
Sun Ly Ye Sara Zamana
Aza Rahay Gi Aza Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain

Hum Na Kabhi Bholenge Ye Ghum
Mola Ki Qasam
Noha Parhenge Yunhi Har Dum
Mola Ki Qasam
Rukne Nahi Denge Yeh Matam
Mola Ki Qasam
Jhukne Nahi Denge Ye Parcham
Mola Ki Qasam

Aehl E Aza Aao Matam Karain Hum
Mehve Buka Aao Matam Karain Hum
Sadat Ka Aao Matam Karain Hum
Ghum Hai Bara Aao Matam Karain Hum
Gonjay Sada Aao Matam Karain Hum
Bas Har Jaga Aao Matam Karain Hum
Na Tum Raho Gy Na Hum Rahenge
Sun Ly Ye Sara Zamana
Aza Rahay Gi Aza Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain
Hussain Hussain Mola Hussain Hussain

Ye Tera Matam Ye Nohay Rahenge
Farhan O Mazhar Yeh Kehte Rahenge
Nasloo Ko Paigham Dete Rahenge
Yunhi Charag E Aza Bhi Jalenge
Na Ye Qadam Ruk Sake Na Rukenge
Majlis Ki Janib Yeh Bartay Rahenge
Na Tum Raho Gay Na Hum Rahenge
Sun Le Ye Sara Zamana
Aza Rahay Gi Aza Rahay Gi
Sada Rahay Ga Hussain Hussain
Hussain Hussain Mola Hussain Hussain

फना होजे गी दुनिया
लकिन खुदा का हे वादा
जब तक ये आजा रहे गीक
ज़ेहरा की दुआ रहे गि

ना तुम रहो गी न हम रहेंगे
सुन ल्य ये सारा ज़माना
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन
हुसैन हुसैन मोला हुसैन हुसैन

जिंदाबाद जिंदाबाद शाह की आजा जिंदाबाद
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन

शब्बीर का घुम रहे गा सदा
नस्लो को विरसे मैं दे दी अज़ा
कल हम रहे ना रहां किया पता
ज़िक्रे अज़ा, आहो बुका
ये ऐसे कर, कर्ण सदा
ना तुम रहो गी न हम रहेंगे
सुन ल्य ये सारा ज़माना
आजा रहे जी सदा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन
हुसैन हुसैन मोला हुसैन हुसैन

हम हैं दुआ ए सैयदा
हम हैं फ़िदा ए हुसैन
जिंदाबाद जिंदाबाद शाह की आजा जिंदाबाद
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन
हुसैन हुसैन मोला हुसैन हुसैन

निकले घरो सई सबी नोहा गारो
पैडल जूलोसो मैं करने सफारी
ना फ़िकरे मौसम ना दुश्मन का दरी
ऊँचे आलम, बरते कदम
रोके हम, किस मैं हे दम
ना तुम रहो गी न हम रहेंगे
सुन ल्य ये सारा ज़माना
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन
हुसैन हुसैन मोला हुसैन हुसैन

सेना में दिल दिल मैं हे धरकाण
धरकान मैं हुसैन
आंखो मैं आशको का हाय सावन
सावन मैं हुसैन
मागा है अल्लाह से जीवन
जवान मैं हुसैन
करबोबाला है मेरा मस्कान
मस्कान मैं हुसैन

तुम भी करो हम भी करें, मातम ए हुसैन
तुम भी परो हम भी परहैं, मजलिस ए हुसैन
तुम भी बनो हम बी बनें, ज़ायर ए हुसैन
तुम भी चलो हम भी चले, मकतल ए हुसैन

तुम भी उठाओ आलम, हम भी उठे आलम
तुम भी बरहाओ कदम, हम भी बरहे कदम
तुम भी ये खाओ कसम, हम भी ये खां कसम
तुम भी मानोगे घुम, हम भी मानोगे घुम


ना तुम रहो गी न हम रहेंगे
सुन ले ये सारा जमाना
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन
हुसैन हुसैन मोला हुसैन हुसैन

रसम ए वफ़ा यूं निभाते हैं हम
बचाओ को सक्का बनाते हैं हम
तहज़ीब ए मजलिस सिखते हैं हम
नोहा परहो, मातम करो
हम न्या किया, तुम भी करो
ना तुम रहो गी न हम रहेंगे
सुन ले ये सारा जमाना
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन
हुसैन हुसैन मोला हुसैन हुसैन

ज़िक्र ए आज़ा को या बरहाओ
नस्लो को यूं परवन चारहाओ
मतमी या नमाजी बनाओ
जो किया तुमने इन्हे भी सिखो
गुजरां जहां से जूलूस आज़ा के
रहो मैं उन्के सबीलें लगाओ

ये हैं सबीलैन ये प्यासो का मातम
रहो मैं है ये असीरो का मातम
ये खून का पुरसा ये ज़खमो का मातम
शुलो पे आबिद के चलो का मातम
ज़िक्र ए सकीना तमंचो का मातम
होता रहेगा शहीदो का मातम

ना तुम रहो गी न हम रहेंगे
सुन ले ये सारा जमाना
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन
हुसैन हुसैन मोला हुसैन हुसैन

रसम ए वफ़ा यूं निभाते हैं हम
बचाओ को सक्का बनाते हैं हम
तहज़ीब ए मजलिस सिखते हैं हम
नोहा परहो, मातम करो
हम न्या किया, तुम भी करो
ना तुम रहो गी न हम रहेंगे
सुन ले ये सारा जमाना
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन
हुसैन हुसैन मोला हुसैन हुसैन

ज़िक्र ए आज़ा को या बरहाओ
नस्लो को यूं परवन चारहाओ
मतमी या नमाजी बनाओ
जो किया तुमने इन्हे भी सिखो
गुजरां जहां से जूलूस आज़ा के
रहो मैं उन्के सबीलें लगाओ

ये हैं सबीलैन ये प्यासो का मातम
रहो मैं है ये असीरो का मातम
ये खून का पुरसा ये ज़खमो का मातम
शुलो पे आबिद के चलो का मातम
ज़िक्र ए सकीना तमंचो का मातम
होता रहेगा शहीदो का मातम


ना तुम रहो गी न हम रहेंगे
सुन ले ये सारा जमाना
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन

हर सांस पर कर्ज है शाह का घुमा
जितना भी मातम करैन वो हय काम
फरश ए आजा पर निकल जे दम
जितनी बच्ची, है जिंदगी
करते रहें, ये नोकरी
ना तुम रहो गी न हम रहेंगे
सुन ले ये सारा जमाना
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन
हुसैन हुसैन मोला हुसैन हुसैन

मौत के सैलाब मैं
हर खुश ओ तार बह जाए गा
हां मगर नाम ए हुसैन इब्न ए अली रह जाए गा
ना तुम रहो गी न हम रहेंगे
सुन ल्य ये सारा ज़माना
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन
हुसैन हुसैन मोला हुसैन हुसैन

बीबी की महनत ये रंग लाए हय
मातम का हर कोई Shayday Hay
एहल ए आजा ने कसम खाई हाय
ये दिल है किया, ये जान है किया
शब्बीर पर, सब कुछ फ़िदा
ना तुम रहो गी न हम रहेंगे
सुन ल्य ये सारा ज़माना
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन

हम ना कभी भोलेंगे ये घुम
मोला की कसम
नोहा परेंगे यूंही हर दम
मोला की कसम
रुकने नहीं देंगे ये मातम
मोला की कसम
झुके नहीं देंगे ये परचम
मोला की कसम

एहल ए आज आओ मातम करैन हम
मेहवे बुका आओ मातम करें हम
सादात का आओ मातम करें हम
घूम है बड़ा आओ मातम करें हम
गोंजय सदा आओ मातम करें हम
बस हर जग आओ मातम करें हम
ना तुम रहो गी न हम रहेंगे
सुन ल्य ये सारा ज़माना
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन
हुसैन हुसैन मोला हुसैन हुसैन

ये तेरा मातम ये नोहे रहेंगे
फरहान ओ मजहर ये कहते रहेंगे
नसलू को पैघम देते रहेंगे
युंही चरग ए आजा भी जलेंगे
ना ये कदम रुक साके ना रुकेंगे
मजलिस की जानीब ये बारटे रहेंगे
ना तुम रहो गे न हम रहेंगे
सुन ले ये सारा जमाना
आजा रहे जी आजा रहे गि
सदा रहे गा हुसैन हुसैन
हुसैन हुसैन मोला हुसैन हुसैन

Sada Rahay Ga Hussain Hussain Video




Farhan Ali Waris Hasan Ayaz Jafri

Latest Music Lyrics 2020